कोरोनाच्या उपाययोजनांसाठी शासनाच्या आवाहनाला खासगी क्षेत्रातील कंपन्यांकडून प्रतिसाद - आरोग्यमंत्री राजेश टोपे यांची माहिती

कोणत्याही टिप्पण्‍या नाहीत


औषधे, मास्क, सॅनिटायझर, व्हेन्टीलेटर पुरविणार, कर्मचाऱ्यांसाठी वर्क फ्रॉम होम कार्यपद्धती

मुंबई, दि. 17 : कोरोनाच्या उपाययोजनांसाठी राज्यशासन आवश्यक त्या खबरदारीच्या उपाययोजना करीत आहे. यामध्ये खासगी क्षेत्रातील कंपन्यांनीही सहभागी व्हावे म्हणून आरोग्यमंत्री राजेश टोपे यांनी आज सह्याद्री अतिथीगृह येथे विविध कॉर्पोरेट कंपन्यांच्या प्रतिनीधींसमवेत बैठक घेतली. कंपन्यांच्या बैठका व्हर्च्युअली घेतानाच वर्क फ्रॉम होम कार्यपद्धती अवलंबण्याचे कंपन्यांनी मान्य केले. त्यांच्या माध्यमातून औषधे, मास्क, सॅनिटायझर, व्हेन्टीलेटर उपलब्ध करून देण्यात येणार असल्याचे आरोग्यमंत्र्यांनी यावेळी सांगितले.

यावेळी आरोग्य विभागाचे प्रधान सचिव डॉ.प्रदीप व्यास, आयुक्त अनुपकुमार यादव यांच्यासह औषधे, बँका, संस्थांचे व्यवस्थापन प्रमुख आणि आरोग्य क्षेत्रातले तज्ज्ञ उपस्थित होते. 

आरोग्यमंत्री श्री.टोपे म्हणाले, कोरोनाचा संसर्ग टाळण्याकरिता गर्दी कमी करणे हा प्रभावी उपाय असून त्यासाठी आवश्यक तेवढा प्रवास करावा, असे आवाहन नागरिकांना करण्यात आले आहे.

खासगी कंपन्यांमार्फत कर्मचाऱ्यांना वर्क फ्रॉम होम संकल्पनेनुसार परावानगी देण्यात आली असून नियमित होणाऱ्या बैठकांना कर्मचाऱ्यांना न बोलावता व्हर्च्युअली बैठका घेण्यात येत असल्याचे मनुष्यबळ व्यवस्थापकांनी सांगितले.

कंपन्यांच्या सामाजिक उत्तरदायित्व निधीतून (सीएसआर) कोरोनाच्या उपाययोजनांसाठी मास्क, सॅनेटायझर्स, पीपीई कीट, व्हेंटीलेटर्स, शासनासाठी उपलब्ध करून देण्याचे यावेळी मान्य केले. रुग्णांच्या आयसोलेशनसाठी सुविधा देखील उपलब्ध करून देण्याबाबत या कंपन्यांच्या प्रतिनिधींनी तयारी दर्शविली. जी औषधे अत्यावश्यक आहेत, ती देखील औषध कंपन्यांकडून मोफत उपलब्ध करून देण्याचे मान्य केल्याचे, आरोग्यमंत्र्यांनी सांगितले.

अत्यावश्यक सेवा वगळून अन्य सेवा, आस्थापना, कार्यालये बंद करण्याबाबत शिफारस यावेळी या कंपन्यांनी केल्याचे आरोग्यमंत्री म्हणाले. कोरोनाच्या जाणीव जागृतीसाठी खासगी कंपन्यांनी तयारी दर्शविली असून, सीएसआरच्या माध्यमातून विविध माध्यमांचा उपयोग करण्यात येईल, असे यावेळी सांगण्यात आले. ज्यांचा रोजंदारीवर उदरनिर्वाह आहे, त्यांच्यासाठी काही विशेष सोय करण्याबाबतही या बैठकीत चर्चा झाली.

कोरोनाच्या रुग्णावर खासगी रुग्णालयात देखील उपचार करण्यासाठी राज्यशासनाची  परवानगी असल्याचे आरोग्यमंत्र्यांनी यावेळी स्पष्ट केले. खासगी प्रयोगशाळांमध्ये कोरोनाची चाचणी करण्याबाबत केंद्राकडून परवानगी घेण्यात येईल, असेही त्यांनी  यावेळी सांगितले.

बैठकीस लूपीनचे यश महाडीक, सोनी पिक्चर्सचे मनू वाधवा, एचएसबीसी बँकेचे विक्रम टंडन, सिप्लाचे राजीव मेस्त्री, एल ॲण्ड टीचे डॉ.के. जे. कामत, अक्सेच्यंर्सचे आदित्य प्रियदर्शन, एसएचआरएमचे अंचल खन्ना, ग्लॅक्सो-स्मिथक्लाईनचे मिनाक्षी प्रियम, डॅाएच्च बँकेचे माधवी लल्ल, आदित्य बिर्ला ग्रुपचे प्रिती चोप्रा, जॅान्सन ॲण्ड जॅान्सनचे सार्थक रानडे आणि राकेश साहनी, आयसीआयसीआय बँकेचे सौरभ सिंह, सिटी बँकेचे बी. सेंथिल नाथन, रिलायन्स इंडस्ट्रीजच्या सीमा नायर, ले-नेस्टचे डॉ.मुकेश गुप्ता आदी उपस्थित होते.

अजय जाधव/विसंअ/१७ मार्च २०२
०००

कोरोना के उपाययोजनाओं के लिए सरकार की चुनौती को
निजी क्षेत्र की कंपनियों की ओर से मिल रहा प्रतिसाद
- स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे
दवाइयाँ, मास्क, सैनिटायझर, वेंटीलेटर उपलब्ध किए जाएंगे,
कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होमकार्यपद्धति

मुंबई, दि. 17: कोरोना के उपाययोजनाओं के लिए राज्य सरकार की ओर आवश्यक ऐसी सभी प्रकार की खबरदारी की उपाययोजनाएं की जा रही है। इसमें निजी क्षेत्र के कंपनियों ने भी भाग लेना चाहिए, इसके लिए स्वास्थ्यमंत्री राजेश टोपे ने आज सह्याद्री अतिथिगृह में विविध कॉर्पोरेट कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक ली। कंपनियों की बैठक वर्चुअलीलेते समय वर्क फ्रॉम होमकार्यपद्धति का स्वीकार करने की बात कंपनियों ने मान्य की। उनके माध्यम से दवाइयाँ, मास्क, सैनिटायझर, वेंटीलेटर उपलब्ध कराए जाने की बात स्वास्थ्यमंत्री ने इस दौरान कहीं।
इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ. प्रदीप व्यास, आयुक्त अनुपकुमार यादव समेत दवाइयाँ, बैंक, संस्थाओं के प्रबंधन प्रमुख और स्वास्थ्य क्षेत्र के विशेषज्ञ उपस्थित थे।
स्वास्थ्यमंत्री श्री. टोपे ने कहा कि कोरोना के संक्रमण के बचने के लिए भीड़ कम करना, यह उत्तम उपाय है और जितना जरूरी है, उतनी ही यात्रा करने का आवाहन नागरिकों से किया गया है।
बैठक में मानव संसाधन व्यवस्थापक के बताया कि निजी कंपनियों के जरिए कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की संकल्पना के अनुसार अनुमति दी गई है और नियमित होनेवाली बैठकों में भी कर्मचारियों को न बुलाते वर्च्युअली बैठक ली जा रही है।
स्वास्थ्यमंत्री ने बताया कि कंपनियों के सामाजिक उत्तरदायित्व निधि से (सीएसआर) कोरोना की उपाययोजनाओं के लिए मास्क, सैनेटाझर्स, पीपीई कीट, वेंटीलेटर्स, सरकार को उपलब्ध कराने की बात इस बैठक में मान्य की है। मरीजों के आयसोलेशन के लिए सुविधा भी उपलब्ध कराने देने के संदर्भ में इस  कंपनियों के प्रतिनिधियों ने तैयारी दर्शायी। जो दवाइयाँ अत्यावश्यक है, वह भी दवाइयाँ कंपनियों के ओर से नि:शुल्क उपलब्ध कराने की बात मान्य की है।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अत्यावश्यक सेवा को छोड़कर अन्य सेवा, आस्थापना, कार्यालय बंद करने को लेकर सिफ़ारिश इन कंपनियों ने मान्य की है। कोरोना के जनजागरण के लिए निजी कंपनियों ने तैयारी दर्शायी है और सीएसआर के माध्यम से विविध माध्यमों का उपयोग किया जाएगा।
इसके अलावा जिनका जीवनयापन रोजदांरी पर निर्भर है, उनके लिए कुछ विशेष उपाय करने के संदर्भ में भी इस बैठक में चर्चा की गई।
साथ ही कोरोना के मरीजों पर निजी अस्पताल में भी इलाज़ करने के लिए राज्य सरकार की अनुमति होने की बात स्वास्थ्यमंत्री ने इस दौरान स्पष्ट की। उन्होंने कहा कि निजी प्रयोगशालाओं में कोरोना की सैंपल जांच करने को लेकर केंद्र की ओर से अनुमति ली जाएगी।
 बैठक में लूपीन के यश महाडीक, सोनी पिक्चर्स के मनू वाधवा, एचएसबीसी बैंक के विक्रम टंडन, सिप्ला के राजीव मेस्त्री, एल एंड टी के डॅा. के. जे. कामत, अक्सेच्यंर्स के आदित्य प्रियदर्शन, एसएचआरएम के अंचल खन्ना, ग्लॅक्सो-स्मिथक्लाईन की मीनाक्षी प्रियम, डॅाएच्च बैंक के  माधवी लल्ल, आदित्य बिर्ला ग्रुप की प्रीति चोप्रा, जॅान्सन एंड  जॅान्सन के सार्थक रानडे और राकेश साहनी, आयसीआयसीआय बैंक के सौरभ सिंह, सिटी बैंक के बी. सेंथिल नाथन, रिलायन्स इंडस्ट्रीज की सीमा नायर, ले-नेस्ट के डॅा. मुकेश गुप्ता आदि उपस्थित थे।
०००

Pvt Sector cos respond to govt’s appeal to contain coronavirus
- Health Minister Rajesh Tope
Will supply medicines, masks, sanitizers, ventilators, Work from Home for employees
Mumbai, Mar 17: The State Government is taking all possible steps to contain the spread of the Coronavirus. To invite private companies in this mission, Health Minister Rajesh Tope today conducted a meeting with representatives of corporate companies at Sahyadri Guest House. The companies agreed to follow the ‘work from home’ system for their employees while conducting their ‘virtual meetings’. Through them drugs, masks, sanitizer, ventilators etc. will be made available, the Health Minister said.
On this occasion Principal Secretary of Health Dr Pradip Vyas, Commissioner Anupkumar Yadav and experts in the fields of medicines, banks, management chiefs, and health sector were present.
Health Minister Tope said that to avoid crowded places is the best measure to check the spread of coronavirus. For this, people are advised to travel minimum.
The private companies have allowed their employees to work from home and regular meeting are also conducted virtually, the HR managers told.
Through the corporate social responsibility (VSR) funds of the companies, masks, sanitizers, PPE Kits, ventilators, will be made available to the government, the companies agreed to this, the Minister said adding that they also agreed to make isolation facility available for the patients. The companies will also be supplying the necessary medicines free of cost, the Health Minister said.
These companies have recommended closure of all other services, establishments, and offices except the emergency services, the Health Minister said. These private companies have shown their willingness to participate in awareness campaign and through the CSR various media can be used for this. The meeting discussed making separate arrangements for the daily wage earners.
The Health Minister made it clear that the government allowed treatment of corona patients in private hospitals also. Centre’s permission will be sought to conduct coronavirus tests in private labs, the Health Minister said.
The meeting was attended by Yash Mahadik of Lupin, Manu Wadhva od Soni Pictures, Vikram Tandon of HSBC Bank, Rajiv Mestri of SIPLA, Dr. K J Kamat of L & T, Aaditya Priyadarshan of Accenture, Anchal Khanna of SHRM, Meenakshi Priyam of Glasgow-Smith Cline, Madhavi Lall of Daesh Bank, Priti Chopra of Aditya Birla Group, Sarthak Ranade and Rakesh Sahni of Johnson & Johnson, Saurabh Singh of ICICI Bank, B, Senthil Nathan of City Bank, Seema Nair of Reliance Industries, Dr Mukesh of Le-Nest and  others.

0000

कोणत्याही टिप्पण्‍या नाहीत

टिप्पणी पोस्ट करा

Blogger द्वारा समर्थित.