रिक्षा चालक-मालकांच्या मागण्यांबाबत शासन सकारात्मक

कोणत्याही टिप्पण्‍या नाहीत



कल्याणकारी मंडळासाठी आठवडाभरात समिती - मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस

मुंबई, दि. 9 : रिक्षा चालक-मालकांच्या विविध मागण्यांबाबत शासन सकारात्मक असून त्यांचे कल्याणकारी मंडळ लवकरच स्थापन केले जाईल. यासाठी शासन आणि संघटनांच्या प्रतिनिधींची एक संयुक्त समिती येत्या सात दिवसात गठित करुन त्यामार्फत कल्याणकारी मंडळाचे कामकाज तसेच रिक्षा चालक-मालकांसाठी राबवावयाच्या विविध योजनांची आखणी केली जाईल, असे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस यांनी आज येथे रिक्षा चालक-मालकांच्या विविध संघटनांसमवेत झालेल्या बैठकीत जाहीर केले.


राज्यातील विविध रिक्षा चालक-मालक संघटनांच्या प्रतिनिधींसमवेत मुख्यमंत्री श्री. फडणवीस यांच्या उपस्थितीत आज मंत्रालयात बैठक झाली, त्यावेळी ते बोलत होते. यावेळी सार्वजनिक बांधकाममंत्री (सार्वजनिक उपक्रम) एकनाथ शिंदे, मुख्यमंत्र्यांचे प्रधान सचिव भूषण गगराणी, महाराष्ट्र रिक्षा चालक-मालक संघटना संयुक्त कृती समितीचे अध्यक्ष शशांक राव यांच्यासह राज्यातील विविध रिक्षा संघटनांचे प्रतिनिधी उपस्थित होते.

राज्यातील विविध रिक्षा संघटनांनी आजपासून राज्यभरात रिक्षाच्या संपाचा इशारा दिला होता. त्या पार्श्वभूमीवर मुख्यमंत्री श्री. फडणवीस यांनी या संघटनांना बैठकीसाठी निमंत्रित केले होते. मुख्यमंत्र्यांच्या निरोपानंतर काल रात्री उशीरा संघटनांनी आपला संप मागे घेत असल्याचे जाहीर केले होते.


मुख्यमंत्री श्री. फडणवीस म्हणाले, रिक्षा चालक-मालकांच्या कल्याणकारी मंडळासाठी भरीव निधी मिळेल याची तरतूद केली जाईल. मंडळामार्फत रिक्षा चालक-मालक यांच्यासाठी विविध योजना राबविल्या जातील. या योजना कोणत्या असाव्यात तसेच कल्याणकारी मंडळाचे स्वरुप काय असावे हे ठरविण्यासाठी येत्या सात दिवसात शासनाचे काही प्रतिनिधी आणि संघटनांचे प्रतिनिधी यांची समिती गठित केली जाईल. समितीच्या शिफारशीनंतर लागलीच कल्याणकारी मंडळ स्थापन करुन त्यामार्फत रिक्षा चालक-मालकांसाठी विविध कल्याणकारी योजना राबवू, असे त्यांनी सांगितले.

रिक्षा चालक-मालकांच्या इतर विविध मागण्यांबाबतही शासन सकारात्मक असून त्याबाबतही लवकर निर्णय घेऊ, असेही मुख्यमंत्र्यांनी यावेळी सांगितले.
००००


रिक्शा चालक - मालक की मांगों के बारे में सरकार सकारात्मक
एक सप्ताह के भीतर कल्याण बोर्ड के लिए गठित होगी समिति
- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस
मुंबई, दिनांक 09: रिक्शा चालक -मालक की विभिन्न मांगों को लेकर सरकार सकारात्मक है और उनके खुशहाली के लिए कल्याण बोर्ड को जल्द ही स्थापित किया जाएगा।इसके अलावा सरकार और संगठनों के प्रतिनिधियों की एक संयुक्त समिति का गठन सात दिनों के भीतर किया जाएगा और रिक्शा चालक-मालक के लिए लागू किये जाने वाले विभिन्न योजनाओं को स्वरूप दिया जाएगा।
 मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आज यहां पर रिक्शा-चालक-मालक के विभिन्न संगठनों के साथ हुई बैठक में  यह घोषणा की है।
राज्य के विभिन्न रिक्शा चालक-मालक के प्रतिनिधियों के साथ मुख्यमंत्री श्री देवेंद्र फडणवीस की उपस्थिति में आज मंत्रालय में बैठक आयोजित किया गया था। इस बैठक में श्री फडणवीस बोल रहे थे। इस बैठक में लोक निर्माण (सार्वजनिक उद्यम) मंत्री एकनाथ शिंदे, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव भूषण गगरानी,महाराष्ट्र रिक्शा चालक मालक संघटन संयुक्त कृती समिति के अध्यक्ष शशांक राव और विभिन्न रिक्शा संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
राज्य के विभिन्न रिक्शा संगठनों ने आज से पूरे राज्य में रिक्शा हड़ताल पर जाने का ऐलान किया था। इसी पृष्ठभूमि में मुख्यमंत्री श्री देवेंद्र फडणवीस ने इन संगठनों को बैठक में आमंत्रित किया था। कल रात मुख्यमंत्री के संदेश के बाद, संगठनों ने अपना हड़ताल वापस लेने का ऐलान किया था।
मुख्यमंत्री श्री फडणवीस ने कहा, रिक्शा चालक-मालक के कल्याणकारी बोर्ड के लिए ज्यादा धन उपलब्ध कराने के लिए प्रावधान किया जाएगा। इस बोर्ड के माध्यम से रिक्शा चालक-मालक के लिए विभिन्न योजनाओं को लागू किया जाएगा। यह योजना कैसी होगी और कल्याण बोर्ड के स्वरूप का निर्धारण करने के लिए अगले सात दिनों में सरकार के प्रतिनिधियों और संगठनों के प्रतिनिधियों की एक समिति बनाई जाएगी। समिति की सिफारिश के तुरंत बाद, जल्द ही कल्याण बोर्ड की स्थापना की जाएगी। उन्होंने बताया कि इसके बाद इस बोर्ड के माध्यम से रिक्शा चालक मालक के लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं को लागू किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सरकार रिक्शा चालक मालक की विभिन्न अन्य मांगों को लेकर भी सकारात्मक है और उस पर भी जल्द ही फैसला लिया जाएगा।

००००

कोणत्याही टिप्पण्‍या नाहीत

टिप्पणी पोस्ट करा