रामटेक तीर्थक्षेत्र विकासासाठी अतिरिक्त अर्थसंकल्पात ४२ कोटी रुपये देणार - सुधीर मुनगंटीवार

कोणत्याही टिप्पण्‍या नाहीत




मुंबई, दि. 6 : रामटेक तीर्थक्षेत्र विकास आराखड्यातील कामासाठी येणाऱ्या अतिरिक्त अर्थसंकल्पात 42 कोटी रुपयांचा निधी उपलब्ध करून दिला जाईल, अशी माहिती अर्थमंत्री सुधीर मुनगंटीवार यांनी दिली. 

आज सह्याद्री अतिथीगृहात झालेल्या आढावा बैठकीत ते बोलत होते. यावेळी आमदार मल्लिकार्जुन रेड्डी व इतर वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित होते.

आराखड्यातील कामे कालबद्ध पद्धतीने पूर्ण होण्यासाठी जिल्हाधिकारी यांनी दर महिन्याला  बैठक घेऊन केलेल्या कामाचा आढावा घ्यावा अशा सूचना देऊन श्री. मुनगंटीवार म्हणाले, नागपूर जिल्ह्यातील ऐतिहासिक  परिसर असलेल्या रामटेक तीर्थक्षेत्राला अनेक भाविक आणि पर्यटक भेट देतात. येथील यात्री निवास, प्राचीन मंदिरे, स्मारके, तलाव, विहिरी, यांचे काम करण्यासाठी तसेच  या क्षेत्राचे पुरातन महत्व आणि प्राचीन संस्कृती जतन करण्यासाठी 150 कोटी रु च्या रामटेक तीर्थक्षेत्र विकास आराखड्याला  मंजुरी देण्यात आली आहे. यापैकी 50 कोटी रुपयांची 40 कामे पहिल्या टप्प्यात हाती घेण्यात आली. जिल्हाधिकारी या कामासाठी नोडल ऑफिसर  म्हणून काम करत आहेत.  त्यांनी या 40 कामांच्या पुर्ततेचा टाईम टेबल  निश्चित करून आपल्याला पाठवावा, असे निर्देशही अर्थमंत्र्यांनी दिले. रामटेक तीर्थक्षेत्र विकास आरखड्यात गडमन्दिर परिसराचा विकास केवल नरसिंह आणि रुद्र नरसिंह मंदिर, जतन  व दुरुस्ती, पथदिवे बसवणे, गंगासूत्र मंदिर जतन व दुरुस्ती  अशा अनेक कामांचा समावेश आहे.
००००


42 crore more funds will be given in additional budget for development of Ramtek pilgrimage –Sudhir Mungantiwar
Mumbai, June 6:- In the upcoming additional budget, 42 crore rupees will be given for The Ramtek Pilgrimage site development as per the plan. This information was given by finance minister Sudhir Mungantiwar.
 He was addressing a review meeting at the guest house today. MLA Mallikarjun Reddy and other senior officers were present on the occasion. Mr Mungantiwar said that as per the time-bound plan, the work progress should be looked after by the district magistrate and he should be conducting meeting every month for taking a review of the developmental works.
 He said that Ramtek is known as the historical pilgrimage site in Nagpur district and scores of pilgrims and tourists visit Ramtek. The fund will be utilized for developing the ancient culture and to be preserve it and hence 150 crore rupees will be given for Ramtek pilgrimage Development Plan which has already been approved. He said that out of these funds, 50 crores will be used for 40 developmental works in the first phase and the entire work should be completed within time bound period. He asked the district magistrate to send the progress report to him. The Garh Mandir premises development, Keval Nursiha and Rudra Narasiha temples, their preservation and repairing, street light, preserving of the Ganga Sutra temple and repairing are to be done.

0000

रामटेक तीर्थ क्षेत्र के विकास के लिए अतिरिक्त बजट में ४२ करोड़ दिए जाएंगे- सुधीर मुनगंटीवार
मुंबई, जून 6:- विकास रूपरेखा के अनुसार रामटेक तीर्थ क्षेत्र के विकास के लिए अतिरिक्त बजट में 42 करोड़ रुपए अधिक निधि दी जाएगी, यह जानकारी अर्थ मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने दी. वे आज यहां सहयाद्रि अतिथि गृह में समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे. इस समय विधायक मल्लिका अर्जुन रेड्डी और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.
 रूपरेखा में दर्शाए गए काम समय सीमा के मद्देनज़र पूरे करने के लिए जिलाधीश को हर महीने बैठक लेकर काम का जायजा लेने की सूचना श्री मुनगंटीवार ने दी. उन्होंने कहा कि जिले में ऐतिहासिक परिसर के नाम से जाने जाने वाले रामटेक तीर्थ क्षेत्र को अनेक श्रद्धालु और सहलानी भेट देते हैं. यहां के यात्री निवास, प्राचीन मंदिर, स्मारक तलब, कुवे का काम करने के लिए साथ ही क्षेत्र में पुरातन महत्व तथा प्राचीन संस्कृति के जतन के लिए 150 करोड़ रूपये रामटेक तीर्थ क्षेत्र विकास रूपरेखा के लिए मंजूर किए गए हैं. इस निधि में से ₹50 करोड़ रुपए की मदद से पहले चरण में 40 काम किए जाएंगे.
 जिलाधीश इन कामों के लिए नोडल ऑफिसर के रूप में कार्य करेंगे. उन्होंने इस 40 कामों को पूरा करने के लिए समय सीमा निश्चित करने की और इसकी जानकारी भेजने के निर्देश दिए. रामटेक तीर्थ क्षेत्र विकास रूपरेखा में गढ़ मंदिर, परिसर के विकास के लिए केवल नरसिंह तथा रूद्र नरसिंह मंदिर दुरुस्ती तथा जतन, स्ट्रीट लाइट बिठाना, गंगा सूत्र मंदिर का जतन और उसकी देखरेख जैसे कई कामों का समावेश.

००००

कोणत्याही टिप्पण्‍या नाहीत

टिप्पणी पोस्ट करा